2019 चुनाव पर दिल्ली का सर्वे: 4 सीटों पर AAP की जीत पक्की, 3 पर आप-बीजेपी में कड़ा मुकाबला - DAINIK JHROKHA

Breaking

Post Top Ad

Post Top Ad

Tuesday, August 21, 2018

2019 चुनाव पर दिल्ली का सर्वे: 4 सीटों पर AAP की जीत पक्की, 3 पर आप-बीजेपी में कड़ा मुकाबला

2019 चुनाव पर दिल्ली का सर्वे: 4 सीटों पर AAP की जीत पक्की, 3 पर आप-बीजेपी में कड़ा मुकाबला
2019 चुनाव पर दिल्ली का सर्वे: 4 सीटों पर AAP की जीत पक्की, 3 पर आप-बीजेपी में कड़ा मुकाबला


नई दिल्ली : 2019 की लोकसभा चुनाव को मद्दे नजर अपनी स्थिति का आकलन करने के लिए आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में बूथ वाइज सर्वे कराकर लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी की ग्राउंड पोजिशन जानने की कोशिश की। सर्वे के दौरान लोगों को यह नहीं बताया गया कि यह सर्वे पार्टी के लिए किया जा रहा है, ताकि लोग ईमानदारी से अपना जवाब दें। सर्वे के नतीजों से आप के हौसले बुलंद हैं। सर्वे के मुताबिक, आप दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों में से 4 सीटों पर जीत दर्ज कर रही है, साथ ही बाकी की 3 सीटों पर भी बीजेपी से कड़ा मुकाबला है। 


आप के सर्वे के मुताबिक पार्टी को लोकसभा चुनाव में 46 पर्सेंट वोट शेयर मिलने की उम्मीद है जबकि बीजेपी को 36 पर्सेंट वोट मिल रहा है और कांग्रेस को महज 9 पर्सेंट। इतना ही शेयर अदर्स के नाम है। कांग्रेस के साथ अलायंस की चर्चा के बारे में भी सर्वे में पूछा गया। लोगों ने अलायंस के खिलाफ बात की और कहा कि वे नहीं चाहते हैं कि आप और कांग्रेस में किसी तरह का गठबंधन हो। 

नेशनल रजिस्टर फ़ॉर सिटिज़न (NRC) का मामला सिर्फ रोटी, कपड़ा, मकान,चिकित्सा,शिक्षा, भ्रष्टाचार राफ़ेल ध्यान भटकना - संजय सिंह


सर्वे के मुताबिक आम आदमी पार्टी अभी भी अपर क्लास में अपनी पकड़ नहीं बना पाई है। हालांकि वह कांग्रेस से काफी आगे है लेकिन अपर क्लास में बीजेपी का दबदबा दिख रहा है। सर्वे में सामने आया कि अपर क्लास में बीजेपी को जहां 52 पर्सेंट वोट मिल रहे हैं वहीं आप का वोट पर्सेंट 30 पर्सेंट है। कांग्रेस को 6 पर्सेंट और अदर्स को 12 पर्सेंट वोट का अनुमान है। 

लोअर क्लास को आप का वोट बैंक माना जाता है। जो पहले कांग्रेस का वोट बैंक हुआ करता था, उसमें आम आदमी पार्टी ने शुरू से ही सेंध लगाई है। इस सर्वे में भी आप लोअर क्लास की चहेती नजर आ रही है। सर्वे के मुताबिक लोअर क्लास में आप को 56 पर्सेंट वोट शेयर मिल रहे हैं, जबकि 25 पर्सेंट वोट शेयर के साथ बीजेपी दूसरे नंबर पर है। कांग्रेस को लोअर क्लास का 10 पर्सेंट और अदर्स को 9 पर्सेंट वोट मिल रहा है। मिडल क्लास बीजेपी और आप के बीच झूलता रहा है। दो साल पहले जब आप ने सर्वे कराया था उस वक्त आप को मिडल क्लास का 34 पर्सेंट वोट मिलता दिख रहा था, लेकिन अब मिडल क्लास का रुझान आप की तरफ बढ़ा है। सर्वे के मुताबिक आप को मिडल क्लास का 45 पर्सेंट वोट मिल रहा है जबकि बीजेपी को 38 पर्सेंट। कांग्रेस को 7 और अदर्स को 10 पर्सेंट। सर्वे के मुताबिक, सरकारी स्कूलों की हालत सुधरने का अच्छा असर मिडल क्लास पर पड़ा है और उन्होंने सर्वे के दौरान इसे लेकर साफ बोला भी कि सरकारी स्कूलों में हुए काम से वह आप की तरफ प्रभावित हुए हैं। 


सर्वे के मुताबिक जहां आप को यूथ और महिलाओं का ज्यादा सपॉर्ट मिलता दिख रहा है, वहीं व्यापारी वर्ग अब भी बीजेपी की तरफ है। सर्वे में सामने आया कि व्यापारियों ने जीएसटी और नोटबंदी से जुड़ी परेशानियां और दर्द बताया तो सही लेकिन उनका झुकाव अभी भी बीजेपी की तरफ है। हालांकि वैश्य वोट बैंक में आप ने कुछ हद तक सेंध लगाई है। 

संजय सिंह ने उठाए राफेल पर सवाल, देंगे विशेषाधिकार हनन का नोटिस


पार्टी के इस सर्वे में जब लोगों से पूछा गया कि वह आप के पक्ष में क्यों बात कर रहे हैं तो कुछ अहम बिंदु सामने आए। लोगों ने कहा कि आप दिल्ली की पार्टी है इसलिए आप और केजरीवाल दिल्लीवालों के हकों के लिए लड़ सकते हैं। साथ ही यह भी कि बीजेपी-कांग्रेस के सांसद दिल्ली वालों के लिए इसलिए नहीं लड़ सकते क्योंकि उन्हें अपनी पार्टी की केंद्रीय नीतियों के हिसाब से चलना होता है। सर्वे में यह भी कहा गया कि लोगों ने यह राय जाहिर की कि अगर दिल्ली से सातों सांसद आप के होते तो सीलिंग नहीं होती, साथ ही मेट्रो का किराया नहीं बढ़ता। 

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद भी केंद्र का LG के जरिए अड़ंगा जारी


दिल्ली की इस सर्वे के नतीजे और इसके जरिए सामने आई लोगों की राय के आधार पर अब आप ने एक पर्चा तैयार किया है, जिसे जल्द ही घर घर पहुंचाने की तैयारी है। इसमें दिल्ली के बीजेपी के सातों सांसदों पर निशाना साधा गया है। साथ ही उन पर आरोप लगाया गया है कि उन्होंने दिल्ली में हो रहे कई अच्छे कामों में अड़चन डालने का काम किया है। इसमें कहा गया है कि आप दिल्ली की पार्टी है और सिर्फ वही दिल्ली वालों के लिए लड़ती है। इसमें लोकसभा की सभी सातों सीटों पर आप को जिताकर केजरीवाल के हाथ मजबूत करने की अपील भी की जाएगी। 

आम आदमी पार्टी सूत्रों के मुताबिक 2 हफ्ते में पार्टी दिल्ली की बची दो लोकसभा सीटों पर भी पार्टी प्रभारी का ऐलान करने की तैयारी कर रही है। अभी पार्टी ने पांच सीटों पर प्रभारी तय किए हैं। सूत्रों के मुताबिक पार्टी इन प्रभारियों को ही लोकसभा उम्मीदवार बनाने का मन बना रही है। 


No comments:

Post a Comment

Thanks For Visit my site

Post Top Ad